Shammi Aunty pass away, Bollywood has given last farewell

0
5
views

नई दिल्ली: करीब छह दशकों तक अभिनय जगत में सक्रिय रहीं दिग्गज चरित्र अभिनेत्री नरगिस रबादी, जो मनोरंजन उद्योग में ‘शम्मी आंटी’ के नाम से लोकप्रिय हैं, उनका सोमवार देर शाम निधन हो गया. उनके एक पारिवारिक मित्र ने यह जानकारी दी. वह 87 साल की थी. बॉलीवुड हस्ती अशोक शेखर के मुताबिक, वह पिछले कुछ समय से बीमार थीं. उन्होंने अपने जुहू सर्कल स्थित घर में अंतिम सांस ली.

Photo (Twitter)

शेखर ने बताया कि ओशिवारा कब्रिस्तान में उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा. वह आंटी, नानी, परिवार की बुजुर्ग महिला जैसे कई किरदार निभाकर घर-घर में मशहूर हो गईं. शम्मी आंटी ने ज्यादातर हास्य भूमिकाएं की. दिवंगत अभिनेत्री ने ‘कुली नंबर-1’, ‘मर्दो वाली बात’, ‘शिरीन फरहाद की तो निकल पड़ी’ जैसी कई फिल्मों में काम किया. उन्होंने ‘देख भाई देख’, ‘जबान संभाल के’, ‘श्रीमान श्रीमती’, ‘कभी ये कभी वो’ और ‘फिल्मी चक्कर’ जैसे लोकप्रिय धारावाहिकों में भी काम किया.

शम्मी पारसी थीं और बॉलीवुड के दिग्गज फिल्मकार दिवंगत सुल्तान अहमद की पूर्व पत्नी थीं. उन्हें सबसे पहले श्रद्धांजलि देने वालों में संस्कृति मंत्री महेश शर्मा, महानायक अमिताभ बच्चन, डिजाइनर संदीप खोसला, अभिषेक बच्चन, फराह खना और दिव्या दत्ता जैसी हस्तियां रहीं. महेश शर्मा ने लिखा, “दिग्गज अभिनेत्री शम्मी के निधन पर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि. भारतीय सिनेमा उनके बहुमूल्य और प्रेरणादायी योगदान को हमेशा याद रखेगा.”

अमिताभ ने ट्वीट किया, “शम्मी आंटी..शानदार अभिनेत्री, मनोरंजन उद्योग में सालों योगदान देने वाली, प्रिय पारिवारिक मित्र चल बसीं. लंबी बीमारी..उम्र..दुख..धीरे-धीरे वे सभी जा रहे हैं. ” अभिनेता ने शम्मी आंटी की कुछ तस्वीरें भी साझा की.

अमिताभ के बेटे अभिषेक ने लिखा, “मैं वास्तव में आपको बहुत याद करूंगा शम्मी आंटी..आपने हमेशा गर्मजोशी से गले लगाया और हर किसी के चेहरे पर मुस्कुराहट लाने में कामयाब रही. ढेर सारी यादें. ढेर सारी खुशियां चली गईं, लेकिन ये भुलाई नहीं जा सकतीं. आपकी आत्मा को शांति मिले.”

संदीप खोसला ने इंस्टाग्राम पर दिवंगत अभिनेत्री की एक खूबसूरत तस्वीर पोस्ट की और उन्हें ‘खास’, ‘मार्गदर्शक’ और ‘सबसे अच्छी दोस्त’ बताया. फराह ने लिखा, “हमारी प्यारी शम्मी आंटी अब नहीं रहीं..सबसे प्यारी और मजेदार. मेरे पिता की फिल्मों के समय से काम कर रही थीं और मैं खुशकिस्मत हूं मुझे फिल्म ‘शिरीन फरहाद की तो निकल पड़ी’ में उनके साथ काम करने का मौका मिला. ईश्वर उन पर कृपा करें.”

दिव्या ने कहा कि शम्मी की प्रतिभा, गर्मजोशी और हंसी हमेशा यादों में बनी रहेगी. अभिनेता बिंदु दारा सिंह ने कहा कि वह अभिनेत्री को हमेशा मुस्कुराने वाली, शांतिपूर्ण रवैये वाली शख्सियत के रूप में याद करेंगे.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here