2 थ्योरी में छिपी कासगंज में भड़की हिंसा की ‘असली कहानी’!

0
36
views
2-Theory-on-Kasganj
2-Theory-on-Kasganj

2 थ्योरी में छिपी कासगंज में भड़की हिंसा की ‘असली कहानी’ क्या है गणतंत्र दिवस पर कासगंज में मुस्लिम और हिन्दू समुदाय के लोगों में हिंसा भड़कने का कारण  ? आखिर क्यों गणतंत्र दिवस को कासगंज के मुस्लिम और हिन्दू समुदाय एक दूसरे के खून के प्यासे हो गए ? इस पूरे कांड में अब तक दो अलग अलग थ्योरी सामने आ रही है। ये दोनों थ्योरी के बारे में हम आपको बताते हैं।

पहली थ्योरी कहती हैं की हिंदू एकदम बेकसूर हैं और सारी गलती मुसलमानों की है

हिंसा भड़कने की जो पहली थ्योरी सामने आ रही है उसके मुताबिक हिंदू एकदम बेकसूर हैं और सारी गलती मुसलमानों की है 26 जनवरी की शाम में वीएचपी और ABVP ने

कासगंज में तिरंगा यात्रा निकाली।

कहा जा रहा है कि उत्साहित कार्यकर्ता हाथों में तिरंगा लिए आगे आगे बाइक पर वंदे मातरम के नारे लगाते चल रहे थे। अब पहली थ्योरी का ट्विस्ट यहीं से आता है। कहा जा रहा है कि कासगंज सदर कोतवाली के इलाके बिलराम गेट पर जैसी ही रैली पहुंची, उन पर पथराव होने लगा। इसके बाद मामला भड़का और फिर दोनों तरफ से पत्थरबाजी और आगजनी शुरू हो गई।

अब दंगा भड़कने की दूसरी थ्योरी को भी समझिए

अब जरा कासगंज से ही आ रही दूसरी थ्योरी भी समझ लीजिए। इस थ्योरी में दंगे का सारा ठीकरा हिन्दुओं के सिर पर फूट रहा है।

कासगंज दंगे की जो दूसरी थ्योरी बताई जा रही है वो इलाका बिलराम गेट तक पहली थ्योरी जैसा ही है। लेकिन दूसरी थ्योरी में ये कहा जा रहा है कि बिलराम गेट पर इस रैली के लोगों ने मुस्लिमों के एक ग्रुप को पकड़कर उन्हें जय श्री राम और वंदे मातरम कहने के लिए धमकाया। इसके बाद ही बात बिगड़ती चली गई और फिर खून खराबा शुरू हो गया।

पहली थ्योरी के मुताबिक हिंदू एकदम बेकसूर हैं और सारी गलती मुसलमानों की है

हिंसा भड़कने की जो पहली थ्योरी सामने आ रही है उसके मुताबिक 26 जनवरी की शाम में वीएचपी और ABVP ने कासगंज में तिरंगा यात्रा निकाली। कहा जा रहा है कि उत्साहित कार्यकर्ता हाथों में तिरंगा लिए आगे आगे बाइक पर वंदे मातरम के नारे लगाते चल रहे थे। अब पहली थ्योरी का ट्विस्ट यहीं से आता है। कहा जा रहा है कि कासगंज सदर कोतवाली के इलाके बिलराम गेट पर जैसी ही रैली पहुंची, उनपर पथराव होने लगा। इसके बाद मामला भड़का और फिर दोनों तरफ से पत्थरबाजी और आगजनी शुरू हो गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here