फ़िल्म पद्मावत का बवाल सीन

0
15
views

फ़िल्म पद्मावत में दिखाए इस सीन ने एक बार पूरी दुनिया मे तहलका मचा दिया था

इस फ़िल्म को रिलीज होने से रोकने की भरपूर कोशीशो के बाद भी कोई फायदा नही हुआ और अब यह फ़िल्म रिलीज ही चुकी है और इसके बाद अभी बहुत कुछ बदल चुका है।

इतिहास में दर्ज

अपने समाज और पति की आन-बान-शान को बचाने के लिए आग के आग़ोश में जाती रानी पद्मावती को देखना, बलात्कार जैसी यौन हिंसा को देखने से कम नहीं था.

इस हिंसा को फ़िल्म किसी भी तरीके से ग़लत या पुरानी विचारधारा का प्रतीक इत्यादि नहीं बताती, बल्कि इसे पूजनीय दिखाया गया है. ऐसा त्याग जो महान है.

जंग जीतने वाले से बचने के लिए, हारे हुए मर्दों की औरतें खुद को जलाने पर मजबूर हो जाती थीं और जौहर करती थीं, ये इतिहास में दर्ज ज़रूर है.

पर सती प्रथा की ही तरह ये उनकी स्वेच्छा से लिया हुआ फ़ैसला नहीं बल्कि एक सामाजिक दबाव का नतीजा था.

उसका महिमा मंडन, सती-प्रथा का गुणगान करने से कम नहीं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here